मौसम

मध्य प्रदेश में आफत की बारिश

पहली बार सरदार सरोवर बांध के गेट खुले

मध्य प्रदेश में आफत की बारिश से पूरा प्रदेश पानी-पानी हो गया हैं पहली बार सरदार सरोवर बांध के गेट भी खोलने पड़े हैं । मूसलाधार बारिश के चलते मध्य प्रदेश के ज्यादातर जिलों में नदी-नाले उफान पर हैं।  कई स्थानों पर तो मुख्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। इससे आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है   लगातार हो रही बारिश के चलते रायसेन , देवास ,सतवास  में भी हालात खराब हो गए हैं यहां कई इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस गया है  भोपाल-रायसेन हाईवे बंद हो गया हैं और बरेली के बारना नदी के पुल पर पानी होने से भोपाल-जबलपुर मार्ग बंद है । रायसेन का भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया है ।

रायसेन मुख्यालय सहित जिले भर में हुई मूसलाधार बारिश से हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है  । यहां रीछन नदी के उफान पर आ जाने से दरगाह रपटा चढ़ गया है । वहीं भोपाल-रायसेन बायपास की एक पुलिया धसक जाने की वजह से पूरी तरह रायसेन का भोपाल से सड़क संपर्क टूटा हुआ है । इसके अलावा पगनेश्वर गांव में बेतवा नदी के उफान आ जाने की वजह से रायसेन का विदिशा से भी सड़क संपर्क टूट गया है ही देवास में भी भारी बारिश का कहर जारी हैं । बारिश से अंचल के नदी-नाले उफान पर है । एबी रोड के ग्राम टोंककलां में फोरलेन निर्माण कार्य के चलते पानी की निकासी नहीं होने से गांव में जलभराब की स्थिति बनी    उधर, शिप्रा नदी उफान पर आने से गुरुवार रात पौने एक बजे शिप्रा डेम के दो गेट तीन-तीन मीटर खोले गए  जिले में अब तक औसत 24 इंच बारिश हो चुकी है    पिछले 24 घंटे में जिले में 3.32 इंच बारिश दर्ज की गई    इस दौरान सर्वाधिक पांच इंच बारिश सतवास में दर्ज की गई   इसके अलावा देवास में 2.40, टोंकखुर्द में 3.50, सोनकच्छ में 4.17, हाटपीपल्या में 2, बागली में 3.34, उदयनगर में 2.12, कन्नौद में 3.34, खातेगांव में 4 इंच बारिश दर्ज की गई। भोपाल-रायसेन हाईवे बंद बारिश के कारण बंद हो गया हैं   बरेली के बारना नदी के पुल पर पानी होने से भोपाल-जबलपुर मार्ग भी बंद है  जिले के नदी-नाले उफान आ जाने से कई स्थानों के सड़क संपर्क टूटे हुए हैं     वहीं निचले इलाकों में पानी भरा हुआ है    बड़वानी में भी मूसलाधार बारिश के चलते नर्मदा नदी उफान पर है     देर रात पहली बार सरदार सरोवर बांध के गेट खोले गए   इसके चलते नर्मदा का जलस्तर कम हुआ है  पहले जहां नर्मदा नदी का जलस्तर 131 मीटर तक पहुंच गया था   वहीं बांध के दस गेट खोले जाने के बाद नर्मदा का जलस्तर घटकर 130.700 मीटर हो गया है  .  जानकारी के मुताबिक सरदार सरोवर बांध से 6 लाख 45 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है।  आगर जिले में  24 घंटे में साढ़े 4 इंच से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है उज्जैन और बुरहानपुर में भारी बारिश के चलते शिप्रा नदी उफान पर है रामघाट पूरा डूब चुका है ताप्ती नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है   इसके अलावा सेंधवा में भी बारिश का सिलसिला जारी है    बीते 24 घंटों में सेंधवा में 124.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई है    अब तक पूरे सीजन में कुल 745 मिमी बारिश दर्ज की जा चुकी है   पूरे साल में यहां औसत 811 मिमी बारिश होती है  ऐसे में अभी ही औसत बारिश का कोटा पूरा होने की उम्मीद है वहीं भारी बारिश के चलते इंदौर का यशवंतसागर डैम भी भर गया है। इसके बाद आज सुबह इसके गेट खोले गए इस नजारे को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग यहां पहुंचे    इधर, महाकोशल में भी भारी बारिश से हालात बिगड़े हुए हैं   बारिश के चलते नर्मदा के अलावा बालाघाट में वैनगंगा नदी का जलस्तर बढ़ गया है   आगे हालात और बिगड़ सकते हैं क्योंकि मौसम विभाग ने आज भी मध्य प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है
बालाघाट जिले में पिछले 24 घंटों में 35 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है    जबकि पिछले 48 घंटों में 99 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है    जिले की वैनगंगा, बाघ, बंजर, देव, जमुनिया, टांडा,नदी समेत बरसाती नालों का जलस्तर बढ़ गया है  कई मार्ग बाधित हो गए हैं. नदियों के किनारे बसे 135 गांव खतरे के निशान पर हैं अलर्ट घोषित कर  दिया गया है राज्य के मौसम वैज्ञानिकों ने अलर्ट जारी कर  इंदौर में अति वर्षा होने की संभावना जताई है   सुबह 4 बजे यशवंत सागर का जल स्तर बढ़ने से उसके तीन गेट खोल दिए गए 19 फीट का लेवल बनाए रखने के लिए ये गेट खुले रहेंगे .  लगातार बारिश की वजह से तालाब में पानी आने का सिलसिला जारी है    जबलपुर में भी बारिश का क्रम जारी है  इस सीजन में अब तक बारिश का आंकड़ा 26 इंच पहुंच चुका है  .  तेज बारिश ने ही शहर को आफत में डाल दिया। दर्जनों कॉलोनियों, रहवासी क्षेत्रों में जलभराव हो गया  शहर के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी नर्मदा व सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ गया है . मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान जबलपुर समेत आस-पास के जिलों में भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है   विभाग के मुताबिक राजस्थान से लेकर छत्तीसगढ़ और ओडिशा से लेकर बंगाल की खाड़ी से उपजे कम दबाव की वजह से यह बारिश हो रही है। अगले 24 घंटे अच्छी बारिश होने की संभावना है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close